एक साधारण से आसाधारण बनने तक का सफर ( निक विजुकीक)

हम  देखते है कि बहुत से लोग थोड़ी सी परेशानी आने पर बहुत दुखी हो जाते है और भगवान को दोष देने लगते है कि हे! भगवान तूने मेरे साथ ही ऐसा क्यों किया ?

अगर आप भी ऐसा करते है तो आप इस व्यक्ति की कहानी से सीख सकते है और जान सकते है कि ये हमारी परेशानी कितनी छोटी है ।आप इस कहानी से प्रेरणा ले सकते है और अपनी  परेशानियों को चुटकियों में हल कर सकते है ।

इस व्यक्ति का नाम निक वीजूकिक है। इनका जन्म 4 दिसंबर 1982 में ऑस्ट्रेलिया में हुआ था। ये अन्य बच्चों की तरह स्वस्थ पैदा हुए थे परन्तु इनमे एक विकार था । जिस विकार का नाम phocomelia है। जिसके कारण जब ये पैदा हुए थे तब उनके पास हाथ- पैर नहीं था। यह  देख कर माता –  पिता उनके भविष्य को लेकर काफी चिंतित रहने लगे। उनका आने वाला भविष्य कैसा होगा ?

जैसे ये बड़े हुए इनका दाखिला स्कूल में हो गया वहां भी इनके सामने परेशानियां आई इनको लिखना नहीं आता था  ये बहुत मेहनत करके अपने पैर की उंगलियों की मदद से लिखना सीखा । इनके फ्रेंड इन्हे चिढ़ाते थे।इनकी  देख- भाल के लिए कोई न कोई हमेशा साथ रहता था । जब ये बड़े हो गए तब भी बाथरूम जाने के लिए कोई न कोई रहता था। यह उन्हे अच्छा नहीं लगता था। उनके जीवन में एक ऐसा मोड आया जब ये 10 साल के थे तब उन्होंने आत्महत्या करने की कोशिश की। उनके मा के लेख में छपे विकलांग बच्चों के जीवन में कठिनाइयों को जानकर उनको प्रेरणा मिली और उन्होंने सोचा कि ना जाने  कितने बच्चे मेरी तरह ही कठिनाइयों का सामना करते है । वहीं से उनके दिमाग में विचार आया कि मैं इन बच्चो के लिए मिसाल कायम करुगा । तब से उन्होंने पीछे न मुड़ने का फैसला किया। तब उनके जीवन में टर्निंग पॉइंट आया।

इन्होंने  Attitude is Attitude name की कम्पनी की शुरुआत की और बहुत सी मुस्किलो का सामना कर अपनी कंपनी को शिखर पर के गए ।  आज ये एक सफल वक्ता और सफल बिजनेसमैन है । आज इनसे पूरी दुनिया प्रेरणा लेती है। आज ये अपना हर  काम एक सामान्य व्यक्ती  की तरह करहे है । हाथ-पैर न होने के बावजूद भी आज ये लिखना , तैरना , टाइपिंग करना  और यहां तक कि ये sky driving  भी कर चुके है। 

इनको हर एक काम करने में परेशानी आती थी पर इन्होंने हर एक काम को चुनौती दिया ये आज हर काम को कर  लेते है । हुए इनसे प्रेरणा लेना चाहिए।

https://youtu.be/wtTNLF5lHag

Responses

Your email address will not be published.

+