Category Archives: Philosophy

चंद लम्हों के लिए

चंद लम्हों के लिए

जब खो दो तुम उम्मीद जब खुद से ही हारने लगो जब दुनिया को खुद पर हावी होता देखो जब और लड़ने से डरने लगो तब याद करना उस परमात्मा को तब याद करना उस अथाह प्रेम के सागर को तब याद करना उसे जो तुम्हारी हिम्मत है तब याद करना उसे जिसकी तुम हिम्मत…

Few words about the psychology of romantic love

Few words about the psychology of romantic love

Love is the most powerful emotion a person can experience. It express different set of feelings, behaviours and beliefs, strong feelings of affection. Everyone has their own explanations for love. Let’s see about the psychology of romantic love . love is  holding hands on sunset Brain on love Romantic love is where both men and…

एक वृक्ष की कहानी

एक वृक्ष की कहानी

लाश तुम्हारी देखकर चिता यूं ही जल जाती है मेरी, जलता तुम्हें देख कर राख यूं ही बन जाती है मेरी। पल पल तुम्हें मरता कटता देख यूंही हार जाती हूं मैं,  हर दिन तुम्हारी ऐसी हालत देखकर आंखों में पानी लिए ही सो जाती हूं मैं।  ये जो हमने अपने आलीशान महल बुने हैं,…

मेरी मौत 

मेरी मौत 

 वो कहते हैं कि जिंदगी से प्यार करना चाहिए, पर मुझे तो अपनी मौत प्यारी है।  क्योंकि चाहती हूं मैं मरना एक तरीके से उसी मौत को पाने के लिए यह जिंदगी जी रही हूं किसी और से नहीं बल्कि हर दिन खुद से ही लड़ रही हूँ।  वह मौत ना मिली तो यह जिंदगी…

BODY SHAMING

BODY SHAMING

The other day Aditi said “This just isn’t made for your body type.” I replied “Are you trying to body shame me?” She said “This isn’t body shaming, IS IT? Noun- The definition of body shaming is the practice of making critical,potentially humiliating comments about a person’s body size overweight. <!–– –> We’ve all suffered…