Why big companies fail?

एक interesting question जो कि मुझसे अक्सर पूछा जाता है वो ये है की, “ज़्यादातर बङी companies eventually fail क्यूँ हो जाती हैं?” Yahoo! Internet boom की one of the biggest company जिसकी worth multi-billion dollars थी, वह भी टिक नहीं पाई। No doubt, Yahoo की कीमत आज भी billions of dollars है; पर Yahoo की अब वो value नहीं है जो पहले हुआ करती थी। So, सवाल यह है कि ऐसा होता क्यूँ है?

इसका reason है कि बहुत सारी बङी companies time के साथ आने वाले changes को adapt नहीं करती हैं। Obviously, अगर आप लोगों की demand के according adapt नहीं करेंगॆ, तो लोग eventually आपको ignore करके next option choose कर लेंगे। चाहें आप कितने भी smart हों या फ़िर आपके पास कितना भी पैसा हो, यह सब matter नहीं करता। अगर आप लोगों की needs के according adapt और execute नहीं करते हैं, तो आपकी success हमेशा last नहीं कर सकती। Apple का ही example ले लीजिए: Apple एक समय पर बहुत तेज़ी से grow कर रही थी, पर फ़िर कुछ खराब decisions की वजह से company की value decline होने लगी। Apple की value इतनी कम हो गई थी कि Microsoft को Apple की 100 million dollars invest करके help करनी पङी थी।

अगर आप अपनी company को downfall से बचाना चाहते हो तो ये ज़रूरी है कि आप हमेशा अपने customers की ज़रूरतों पर ध्यान दें और उनसे feedback लेते रहे। चाहें आप phone पर उनसे feedback लें, या फ़िर mail पर। आप SurveyMonkey जैसे tools का use करके अपने customers का survey भी ले सकते हैं। अगर आप अपने potential customers की complaints, उनकी requests और issues को सुनने का time निकालते हैं और उनकी complaints resolve करते हैं, तो वो लोग future में कम complaints करेंगे और इस तरह आप उन्हें वो provide कर पाएंगे जो वो आपसे चाहते हैं। ऐसे आप और आपकी company ज़्यादा successful बन सकते हो। ये एक continous और time-consuming process है तो please अपने customers के साथ patiently behave करें।

एक चीज़ जो आपको कभी नहीं करनी चाहिए वो ये है की अपने arrogance की वजह से लोगों की बात न सुनना, और अपनी 5, 10 या 15 साल की मेहनत से बनाई company को खुद ही बरबाद करना। एक बात हमेशा याद रखें, कभी यह न सोचें कि आप सब कुछ जानते हैं। Continuous growth का best way है अपने mind को new ideas और concepts के लिए हमेशा open रखना। आप ऐसा करते हैं तो आप जल्दी adapt कर सकेंगे और नई चीज़ों को execute भी कर सकेंगे और आपकी company हमेशा stable रहेगी। भले ही आप सबसे top पर या कोई winner न हों, पर आप फ़िर भी उस situation से बहुत better position में होंगे जिसमें आप किसी की बात न सुनने से पहुच सकते हैं।

यही reason है कि बहुत सी बङी companies आती जाती रहती हैं। वो adapt नहीं करती, उनको लगता है कि उनके पास पैसा है तो वो जो चाहें वो कर सकते हैं पर ज़रूरी नहीं कि ऐसा हमेशा हो। अगर ऐसा होता तो Yahoo! जैसी company आज भी बङी होती!

Responses

Your email address will not be published.

+